अपनी सेकस कहानी लिखे
अपनी सेकस कहानी लिखे 24 आवर में आपको 1 माह का फी् यूज पायेअव कहानी लिखें
खौजना:

चुदाइ के अलग अलग आसनों के फ़ोटू

tनीपल छोड़े बिना उन ....उन कर के उस ने हा कही. कहानी कहानी के ठिकाने पर रह गयी मैने मेरी जाँघें चौड़ी कर दी. वो बीच में आ गया. तना हुआ लंड मेरे हाथ में ही था. मैने लंड का मत्था चूत के मुँह पर टीका दिया. प्रदीप ने दो पाँच धक्के लगाए लेकिन लंड फिसल गया, चूत में घुस पाया नहीं.

प्रदीप अपना विचार बदल दे इस से पहले मैने कहा : राज कुमार का लंड कन्या की चूत में जा ना सका क्यूं की लंड मोटा था और चूत सीकुडी थी. कन्या ने राज कुमार को बाहों में भर लिया .....ऐसे .....और पलट गयी अब राज कुमार नीचे और कन्या उपर हो गये ....ऐसे.

प्रदीप मेरा एक स्तन पकड़े हुए नीपल चुसे जा रहा था इस लिए मैं बैठ ना स...

टोटल नम्बर आफ अक्षर: 9415

पूरी सेकस कहानी पढ़ें | एव्यूज रिपोर्ट

सबसक्रपसन खरीदें

1 month $ 24,95
3 months $ 49,95
6 months $ 74,95

कहानी लिखे

कहानी लिखें और कहानी एप्रूव होने पर 24 आवर में आपको 1 माह का फी् यूज मिलेगा

आप इमेल से मैसेज रॉपाओगे
 
कहानी मित्र को भेजें

E-mail:
आप के विचार

योउ मुस्ट् बे लोग्गेन-इन, इन ओर्डेर टो सुब्मिट योउर कम्मेन्ट्स

 Login
यूजर नेम:
पासवरड:


बेलकम
275774 आनलाइन कहानियाँ
130 यूजर आनलाइन





  टोप 10 फिल्म
» पकड़ लो लेकिन आराम से प
» लकनव से दिलही
» बहन के साथ मज़ा
» शीला और पनदितजी
» छूट का भरता
» मेरे लौडे का मुईना
» प्रीति बनी मेरी बीवी 2
» दिल्ही आनती की चुदाई
» पदोसि की लदकी
» जिगोलो की कहानी 10

10 इसी जेनेर से
» मामी को सेक्स से संतुष्
» पदोसि की लदकी
» एक अनोखी फॅमिली 2
» चुदाई के मजे केसे ल
» भूआ को चोदा
» घर की बातें
» विदवा भाभी
» मैन नहिन करूनगा।
» apni maa ko choda
» बचपन का खेल 4

इस यूजर से
» 6 मरद एक साथ।
» एक अनोकी कहानी
» गणतंत्र दिवस की छुट्टी
» गां...डू कहना
» गांड चोदू
» चुदाइ के अलग अलग आसनों
» मछली की तरह वो छटपटाने
» वासना की सिसकारियां
» शांति ढूंढते शोर के बाज

इस आवर की कहानियाँ
» छोटा भाई
» आवाज न निकल
» मेरा पेहला सेक्स
» पहली चुड़ाई
» कमल ने अपनी मुम्मी को च
» देवर के तेवर
» अरुणा की ज़बरदस्त चुड़ा
» डाक्टर साहीब, स्वाती ओर
» होटेल में चुड़ाई
» पापा के दोस्त की बेटी





Warning: You must be 18 years or older to view this website! Free sexdating for hotwifes - swingers and cuckolds