अपनी सेकस कहानी लिखे
अपनी सेकस कहानी लिखे 24 आवर में आपको 1 माह का फी् यूज पायेअव कहानी लिखें
खौजना:

मोटा लंड मेरी चुत मे पेल

टोमी को जल्दी हटाना पड़ेगा, क्योम्की अगर उसका लंड तेरे चुत मे फूल
कर फँस गया तो तू उसके लंड से फँसी रह जावोगी".

मैं बोला. "मैंने सुना है की कुत्ता जब कुतिया को छोड़ता है तब कुछ देर के
बाद उसका लंड निचे से फूल जता है और वो कुतिया के चुत मे फँस जता
है. क्योम. तू ने कभी रास्ते मे कुत्ता और कुतिया गांड से गांड मीला कर
चिपके हुए नही देखा है?"

बोली. "हाय जल्दी कुछ करो, नही तो तुम्हारी बीवी भी टोमी के गांड से
गांड मीला कर फँस रह जायेगी और तुम अपने लंड थामे देखते रह
जावोगे और मूठ के आलावा घुसाने के लिए चुत नही मिलेगी".

मैं फिर से बहार गया और खिड़की से देखने लगा. ...

टोटल नम्बर आफ अक्षर: 6432

पूरी सेकस कहानी पढ़ें | एव्यूज रिपोर्ट

सबसक्रपसन खरीदें

1 month $ 24,95
3 months $ 49,95
6 months $ 74,95

कहानी लिखे

कहानी लिखें और कहानी एप्रूव होने पर 24 आवर में आपको 1 माह का फी् यूज मिलेगा

आप इमेल से मैसेज रॉपाओगे
 
कहानी मित्र को भेजें

E-mail:
आप के विचार

योउ मुस्ट् बे लोग्गेन-इन, इन ओर्डेर टो सुब्मिट योउर कम्मेन्ट्स

 Login
यूजर नेम:
पासवरड:


बेलकम
277328 आनलाइन कहानियाँ
72 यूजर आनलाइन





  टोप 10 फिल्म
» अख़बार परना दिखलैईई दे
» जीजू से चुदाई
» नेट पे असली सेक्स
» सासू माँ को चुद्ते देखा
» उशा की कहानी
» तीन भाभियाँ
» तीन भाभियाँ
» उसकी चूत कI पानी
» मेरे मौसा कि बेति
» पसंद अपनी अपनी

10 इसी जेनेर से
» हम और मम (शुरुआत)
» मैं और मेरी गर्लफ्रेंड
» पोसितिओन
» निकल पदा"हय
» कहानी की मेहराबें
» अपनी प्यास बुझाने के लि
» अरुण अरोड़ा के व्यंग्यात
» ऐसी माँ और कहा
» इन्सेस्ट धमाका
» maami ki chudaai

इस यूजर से
» 15 दिन का टूर
» अआः मजा आ रहा हा
» अंकल की बहू के चुड़ाई
» अपने दोस्त की बीवी के स
» अपने शरीर से शर्म
» आप का सेवक
» उफ़ उफ़ आह अह्ह्ह
» एक छोटी सी प्रेम कहानी
» एक सपना
» औरत की प्यास

इस आवर की कहानियाँ
» रोहित और प्रीति
» सेक्सी सोनिया:
» चाँदनी रात में चुद गयी
» अदला बदली
» ऐं वैं ही पुरुष बेचारे–
» ममता की चुड़ाई
» पयासि भाभी
» प्रिया का शहद
» मेरे दोस्त की बीवी
» ट्रेन का मज़ा





Warning: You must be 18 years or older to view this website! Free sexdating for hotwifes - swingers and cuckolds